नगर पंचायत गुण्डरहेदी में कांग्रेस का अविश्वास प्रस्ताव 10 वोटों से गिरा..सत्तारूढ़ भाजपा ने ली चैन की सांस..भाजपा प्रभारी गौरी शंकर श्रीवास की रणनीति काम आई

नगर पंचायत गुण्डरहेदी में कांग्रेस का अविश्वास प्रस्ताव 10 वोटों से गिरा..सत्तारूढ़ भाजपा ने ली चैन की सांस..भाजपा प्रभारी गौरी शंकर श्रीवास की रणनीति काम आई

बिगुल

रायपुर. नगर पंचायत गुण्डरहेदी में विपक्षी कांग्रेस पार्षद दल को आज उस समय मुंह की खाना पड़ी जब उसके द्वारा लाया गया अविश्वास मत 9 के मुकाबले 10 वोटों के कारण ध्वस्त हो गया तथा सत्तारूढ़ भाजपा ने इस अविश्वास मत पर विजय पा ली. आश्चर्य कि कांग्रेस की ओर से एक पार्षद ने क्रॉस वोटिंग भी की. 

जानते चलें कि नगर पंचायत गुण्डरहेदी में भाजपा की रानू सोनकर अध्यक्ष हैं तथा कांग्रेस विपक्ष में है जिसने अविश्वास प्रस्ताव पेश किया था. इसके बाद भाजपा और कांग्रेस अपनी अपनी रणनीति बना रहे थे. चूंकि गुण्डरहेदी का प्रभार भाजपा किसान नेता गौरी शंकर श्रीवास के पास है इसलिए उन्होंने सुझाव दिया था कि कांग्रेस पार्षद दल द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव किसी भी कीमत में ध्वस्त होना चाहिए. 

इसके लिए श्रीवास ने अध्यक्ष रानू सोनकर के साथ मिलकर रणनीति तैयार की और भाजपा पार्षद दल को, संगठन प्रभारी अजय जामवाल और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमनसिंह से भी मिलवाया था. गुण्डरदेही के भाजपा नेता, अध्यक्ष रानू सोनकर, भाजपा नेता केदारनाथ गुप्ता और गौरीशंकर श्रीवास ने ऐसी रणनीति बनाई कि विपक्ष चारो खाने चित्त हो गया. वह अपने पार्षदों को भी नही संभाल सका क्योंकि एक पार्षद ने क्रॉस वोटिंग भी की नतीजन सत्ता पक्ष को 10 वोट हासिल हुए. इसके बाद सत्तारूढ़ भाजपा ने चैन की सांस ली. विजय होने के बाद पूरे नगर में जुलूस भी निकाला गया जिसमें गुण्डरदेह प्रभारी गौरी शंकर श्रीवास भी शामिल हुए.