ब्रेकिंग : लोनिवि के कार्यपालन अभियंता बर्खास्त..फर्जी जाति प्रमाण-पत्र मामले में बड़ी कार्यवाही..267 अफसर-कर्मी भी बर्खास्त होंगे

ब्रेकिंग : लोनिवि के कार्यपालन अभियंता बर्खास्त..फर्जी जाति प्रमाण-पत्र मामले में बड़ी कार्यवाही..267 अफसर-कर्मी भी बर्खास्त होंगे

बिगुल
रायपुर. आखिरकार लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता राकेश कुमार वर्मा को सेवा से पृथक कर दिया गया। फर्जी जाति प्रमाण पत्र के चलते यह कार्यवाही 12 साल बाद पूरी हो पाई। राज्य शासन ने जाति प्रमाण पत्र फर्जी पाए जाने की पुष्टि के बाद गत दिवस कार्यपालन अभियंता राकेश कुमार वर्मा की नियुक्ति निरस्त कर दी गई है। विभाग में अभी दर्जन भर इंजीनियरों के फर्जी जाति प्रमाण पत्र का मामला लम्बित है।


लोक निर्माण विभाग ने सन 2008 में फर्जी जाति प्रमाण पत्र की शिकायत पर उनके विरुद्ध कार्यवाही की थी लेकिन न्यायालयीन प्रक्रिया के साथ जाति प्रमाण पत्र की जांच के चलते कारवाई लंबित रही। पिछले दिनों उच्च स्तरीय छानबीन समिति ने श्री वर्मा की अनुसूचित जनजाति प्रमाण पत्र को फर्जी पाया । वह अनुसूचित जनजाति वर्ग के नहीं है। छानबीन समिति की रिपोर्ट के बाद लोक निर्माण विभाग ने उन्हें सेवा से पृथक कर दिया। अनुसूचित जनजाति कर्मचारी संगठन द्वारा अब उनके खिलाफ पृथक से एफ आई आर की कार्रवाई पर विचार किया जा रहा है। श्री वर्मा अभी मुख्यालय में पदस्थ है। पिछले वर्षों मे शिकायत के बाद उन्हे मुख्यालय मेंं अटैच कर दिया गया था।