शादी समारोह में दूल्हा-दुल्हन पर चली गोलियां..चचेरे भाई की मौत..दुल्हन के प्रेमी ने दिया घटना को अंजाम..एकतरफा प्यार ने कर दिया बरबाद!

शादी समारोह में दूल्हा-दुल्हन पर चली गोलियां..चचेरे भाई की मौत..दुल्हन के प्रेमी ने दिया घटना को अंजाम..एकतरफा प्यार ने कर दिया बरबाद!

बिगुल..
लखनउ. दूल्हे को मारने के प्रयास में, दुल्हन के प्रेमी ने शादी समारोह में गोली चला दी और दूल्हे के बजाय गोली दुल्हन के चचेरे भाई को लगी, जिससे उसकी मौत हो गई। घटना मंगलवार रात प्रतापगढ़ के सरायखेर खा गांव की है। प्रतापगढ़ पुलिस ने बुधवार को दुल्हन के चचेरे भाई प्रेम सिंह (38) की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी विवेक सिंह को गिरफ्तार कर लिया।


गिरफ्तारी के बाद आरोपी विवेक ने कबूल किया कि वह दुल्हन से प्यार करता था और शादी रोकने के लिए उसने दूल्हे को निशाना बनाकर गोली चलाई थी। हालांकि, वह निशाना चूक गया और गोली प्रेमी को लगी, जिसकी अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई। पुलिस ने मुख्य आरोपी के साथी को भी गिरफ्तार कर लिया है जो घटना के समय कथित तौर पर उसके साथ था।

पुलिस उपाधीक्षक (रानीगंज) डॉ अतुल अंजान त्रिपाठी ने संवाददाताओं को बताया कि मंगलवार की रात सरायखेर खा गांव में निगम सिंह की बेटी की शादी होनी थी। दूल्हे की बारात दिल्ली से आई थी। जब स्वागत समारोह हो रहा था और दुल्हन का चचेरा भाई प्रेम व्यवस्था में व्यस्त था, तभी दुल्हन के प्यार में होने का दावा करने वाला आरोपी विवेक कार्यक्रम स्थल पर पहुंचा और दूल्हे को निशाना बनाकर गोली चला दी। हालांकि गोली प्रेम को लगी और वह गंभीर रूप से घायल हो गया। परिजन उसे जिला अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

डीएसपी ने कहा, "शुरू में पुलिस को शक था कि यह जश्न में हुई फायरिंग का मामला है, लेकिन विस्तृत जांच और आरोपी से पूछताछ में उसकी मंशा का पता चला।" रानीगंज थाने में विवेक सिंह व उसके साथी फिरोज आलम के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

डीएसपी ने कहा कि विवेक लड़की और उसके परिवार को धमकी दे रहा था कि अगर उन्होंने किसी और के साथ उसकी शादी तय करने की हिम्मत की तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। दुल्हन के पिता ने पुलिस को बताया कि आरोपी ने उसकी बेटी की शादी को रोकने के लिए कई प्रयास किए थे।

79