ताजा खबर : महिला एंकर से गैंगरेप..इवेंट कराने के नाम पर हुआ धोखा..शादी के बैंडबाजा में दब गई उसकी चीख..होटल में महिला एंकर के साथ दो घंटे तक दरिंदगी

ताजा खबर : महिला एंकर से गैंगरेप..इवेंट कराने के नाम पर हुआ धोखा..शादी के बैंडबाजा में दब गई उसकी चीख..होटल में महिला एंकर के साथ दो घंटे तक दरिंदगी

बिगुल
राजधानी पटना के गांधी मैदान थाना क्षेत्र स्थित नामी-गिरामी होटल के कमरा नंबर 512 में कोलकाता की महिला एंकर के साथ करीब दो घंटे तक दरिंदगी हुई थी। वह अपनी अस्मत बचाने के लिए चीखती-चिल्लाती रही लेकिन होटल में हो रही तीन बड़ी शादियों में बज रही शहनाई और डीजे के शोर में उसकी आवाज दब गई।


कोई कुछ भी सुन न सके, इसलिए आरोपित अपने मोबाइल पर जोर-जोर से गाना भी बजा रहे थे। दरिंदगी के बाद आरोपितों ने मुंह खोलने पर जान से मारने की बार-बार धमकी दे रहे थे। किसी से बात तक नहीं करने दिया। होटल से कार में बैठाकर सीधे पटना जंक्शन लाये और ट्रेन में बैठा दिया। ट्रेन खुलने के बाद दोनों आरोपित वहां से चले गए। यह कहना है गैंगरेप की शिकार महिला एंकर का।

पीड़िता ने बताया कि आरोपित केस उठाने की धमकी दे रहे हैं। हर्ष की पत्नी ने भी फोन पर धमकी दी है। आरोपितों से कोलकाता में भी मेरी जान को खतरा है। जाधवपुर थाने में धमकी देने का सनहा दर्ज कराई हूं।  गैंगरेप की शिकार हुई महिला एंकर का आरोप है कि पटना में रहकर इंटरटेनमेंट कंपनी चलाने वाले मुजफ्फरपुर के हर्ष और विक्रांत केजरीवाल ने उसके साथ दरिंदगी की। होटल में एक इवेंट कराने के लिए हर्ष से उसकी 40 हजार में डील तय हुई थी। एडवांस में कुछ नहीं मिला था। कोलकाता से पटना आने व जाने के लिए हर्ष ने उसके खाते में गूगल पे के जरिए दो हजार रुपये भेजे थे। 2/3 जुलाई की रात करीब 1 बजे पेमेंट देने के बहाने हर्ष ने कमरा खुलवाया। उनके पीछे विक्रांत केजरीवाल भी कमरे में घुस गया। पहले दोनों पेमेंट देने की बात कहकर उसे बातों में उलझाया। बाद में विक्रांत ने अंदर से कमरा बंद कर दिया और मोबाइल पर जोर-जोर से गाना बजाने लगे।

पीड़िता ने बताया कि मैं कुछ भी समझ पाती कि दोनों ने जोर जबरदस्ती शुरू कर दी। रात करीब 1 से 3 बजे तक दोनों ने बारी-बारी से दरिंदगी की। ट्रेन पर बैठाने के बाद हर्ष ने मुझे इवेंट के नाम पर हुई डील के 40 हजार रुपये दिए और धमकी दी कि कहीं भी मुंह नहीं खोलना और न ही लौटकर पटना आना। कोलकाता पहुंचने पर मैंने पूरे वाकये की जानकारी अपने पति को दी। बाद में चार जुलाई को कोलकाता के जाधवपुर थाने में जाकर आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कराया। अब यह मामला पटना के गांधी मैदान थाने में स्थानांतरित हो गया है।

गांधी मैदान थाना प्रभारी रणजीत वत्स ने बताया कि दोनों आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए अब तक तीन बार अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी की गई है। गहन जांच की जा रही है। पुलिस ने फरार दोनों आरोपितों के खिलाफ कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट ले लिया है। दोनों का मोबाइल बंद है। गिरफ्तारी नहीं होने पर कोर्ट से आदेश प्राप्त कर दोनों आरोपितों की संपत्ति की कुर्की जब्ती की जाएगी।