यूनिसेफ' ने स्कूली बच्चों को याद दिलाए अधिकार और कर्तव्य..प्रत्येक बच्चों के लिए शिक्षा' नामक कार्यशाला संपन्न..जिलों के कलेक्टर और एसपी भी सहभागी बने

यूनिसेफ' ने स्कूली बच्चों को याद दिलाए अधिकार और कर्तव्य..प्रत्येक बच्चों के लिए शिक्षा' नामक कार्यशाला संपन्न..जिलों के कलेक्टर और एसपी भी सहभागी बने

बिगुल
रायपुर. यूनिसेफ की छत्तीसगढ़ इकाई ने कल प्रत्येक बच्चों के लिए शिक्षा' नामक एक कार्यशाला का आयोजन मैगनेटो मॉल स्थित मुक्ताकाशी मंच पर किया. इसके विशिष्ट अतिथि के रूप में न्यूज24 के संपादक मनोज सिंग, आइबीसी24 के संपादक अंशुमान शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार अनिरूद्ध दुबे तथा अनिल द्विवेदी उपस्थित थे.

कार्यक्रम की शुरूआत में यूनिसेफ छत्तीसगढ़ के प्रमुख जॉब जकरिया ने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से यूनिसेफ द्वारा सप्ताह भर विश्व बाल दिवस समारोह का आयोजन किया गया. इसके अंतर्गत कई जिलों में कलेक्टर और एसपी ने स्कूली बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए उन्हें अपनी प्रशासकीय कुर्सी सौंपी और जिम्मेदारियों व कर्तव्यों का अहसास कराया. रायगढ़ के कलेक्टर आइएएस भीम सिंह सहित गौरेला पेन्ड्रा मरवाही की कलेक्टर सुश्री नम्रता गांधी सहित अविनाश ग्रुप ने स्कूली बच्चों से मुलाकात करते हुए उन्हें उनके अधिकारों और कर्तव्यों से रूबरू कराया.



यूनिसेफ की मीडिया प्रभारी सैम बंडी तथा कोआर्डिनेटर सुश्री दिव्या दुबे ने बताया कि यूनिसेफ ने रायपुर में कई जगह खाली कक्षाओं और अप्रयुक्त बैगों और किताबों वाली बच्चों के साथ काल्पनिक महामारी कक्षाएं लगाईं. यह पिछले डेढ़ वर्षों में स्कूलों के बंद होने के कारण सीखने के संकट को उजागर करने के लिए किया गया. ये कक्षाएं शहर के तेलीबांधा तालाब, मैग्नेटो माल, सिटी सेंटर माल और अंबुजा माल में लगाई गई. बाल अधिकारों को बढ़ावा देने के लिए रायपुर में घड़ी चौक, जयस्तंभ चौक, मेक इन इंडिया चौक, तेलीबांधा तालाब और भगत सिंह चौक को नीले रंग से रोशन किया गया.