हाईप्रोफइाल मर्डर : मशहूर महिला फूड ब्लॉगर की चौथी मंजिल से गिरने से मौत..ब्वॉयफ्रेंड के साथ थी रिलेशनशिप में..पूर्व पति से चल रहा था तलाक..जानिए पूरी कहानी

हाईप्रोफइाल मर्डर : मशहूर महिला फूड ब्लॉगर की चौथी मंजिल से गिरने से मौत..ब्वॉयफ्रेंड के साथ थी रिलेशनशिप में..पूर्व पति से चल रहा था तलाक..जानिए पूरी कहानी

बिगुल
उत्तर प्रदेश के आगरा में शुक्रवार को 30 साल की एक मशहूर महिला ब्लॉगर की संदिग्ध हालातों में चौथी मंजिल से गिरने से मौत हो गई. महिला का नाम रितिका सिंह था. घटना शुक्रवार की थाना ताजगंज इलाके की है.


घटना के समय महिला के हाथ पीछे की ओर बंधे होने के चलते मामला संदिग्ध बन गया है. पुलिस हत्या के एंगल से पड़ताल में जुटी है. महिला करीब 3 साल से पति से अलग, एक शादीशुदा शख्स के साथ लिव-इन रिलेशन में रह रही थी. घटना के बाद से ही आगरा शहर में हड़कंप मचा हुआ है. महिला के इंस्टाग्राम पर 44 हजार के करीब फॉलोअर बताए जाते हैं.

लिव-इन में रह रही थी महिला

थाना ताजगंज पुलिस के मुताबिक जिस शख्स के साथ महिला इन दिनों लिव-इन में रह रही थी. उसकी पहचान विपुल अग्रवाल के रूप में हुई है. रितिका का पति से आपसी विवाद के चलते तलाक का मुकदमा अदालत में लंबित है. घटनाक्रम के अनुसार शुक्रवार दोपहर करीब 12 बजे रितिका सिंह के फ्लैट पर तीन युवक और दो महिलाएं पहुंची थीं. उसके कुछ देर बाद ही अपार्टमेंट में लोगों ने तेज आवाज के साथ रितिका सिंह को चौथी मंजिल से गिरते हुए देखा. गिरते ही रितिका सिंह की मौत हो गई थी. मौके पर पहुंची थाना ताजगंज पुलिस ने दो महिलाओं सुनीता और सुशीला के साथ पति आकाश गौतम को हिरासत में ले लिया.

आगरा में सोशल मीडिया पर भी सक्रिय
आगरा पुलिस के मुताबिक विपुल अग्रवाल को भी हिरासत में लिया गया है, जिसके साथ महिला बीते करीब 3 साल से लिव-इन में रह रही थी. पति को छोड़कर पुरुष मित्र के साथ रहने वाली रितिका सिंह आगरा में सोशल मीडिया पर भी सक्रिय थी. वह फूड एंड फैशन ब्लॉगर थी. पुलिस की मानें तो महिला के हाथ पीछे बंधे होने के चलते, मामला हत्या की ओर इशारा करता है. हालांकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने और जांच पूरी होने के बाद ही कुछ ठोस कहा जा सकता है.

लिव-इन पार्टनर को बाथरूम में किया बंद
मौके पर मौजूद कुछ प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि महिला के हाथों के साथ-साथ दोनों पैर भी बंधे हुए थे. घटना आगरा के ओमश्री प्लेटिनम अपार्टमेंट के एक फ्लैट में घटी. पुलिस के मुताबिक फ्लैट के अंदर के हालातों से महसूस होता है कि मानो, महिला ने अंतिम समय तक अपने बचाव की कोशिश की थी, जिसमें वो नाकाम रही. घटना से कुछ समय पहले ही महिला के पति आकाश के भी मौके पर मौजूद रहने के कुछ सबूत पुलिस के हाथ लगे हैं. पुलिस की मानें तो शुरूआत आकाश द्वारा रितिका के साथ मारपीट किए जाने से ही हुई थी. लिव-इन पार्टनर विपुल अग्रवाल जब रितिका सिंह को उसके पति की पिटाई से बचाने आया, तो आकाश और साथियों ने हाथ बांधकर विपुल को बाथरूम में बंद कर दिया.

रितिका के फ्लैट की थी पूरी जानकारी
पुलिस की पूछताछ में विपुल ने बताया कि आकाश गौतम घटना के वक्त रितिका सिंह को मारने के ही इरादे से पहुंचा था. आकाश ने शुक्रवार को सुबह करीब 10:36 बजे अपार्टमेंट के गेट से पहले अपने साथ की दोनों महिलाओं से एंट्री कराई. ताकि उस पर किसी को शक न हो. यह सब कुछ अपार्टमेंट के सीसीटीवी फुटेज में भी नजर आ रहा है. अपार्टमेंट के गार्ड मुन्ना ने टोका तो आकाश आ गया, उसने महिला से एंट्री कराई. उन्होंने सुनीता नाम लिखते हुए छठी मंजिल पर एक फ्लैट का नंबर इंट्री रजिस्टर में दर्ज किया. जबकि उन्हें जाना चौथी मंज़िल पर जाना था. जिस फ्लैट में रितिका सिंह अपने पुरुष मित्र के साथ रह रही थी. जिस तरह से अपार्टमेंट के भीतर इंट्री की गई, उससे लगता है कि, आकाश गौतम को रितिका के फ्लैट के बारे में पहले से पूरी जानकारी थी.



पति और महिलाओं को लोगों ने पकड़ा
घटना के बाद लोगों के शोर मचाने पर अपार्टमेंट के गार्ड ने गेट बंद कर दिया. लाश पड़ी मिलने पर लोगों ने भागते हुए आकाश और उसके साथ की महिलाओं को पकड़ लिया. वहीं उसके दो साथियों का पता नहीं चल सका है. लोग फ्लैट में पहुंचे तो विपुल उन लोगों को बाथरूम के भीतर बंद मिला. पुलिस को फ्लैट के अंदर सामान बिखरा पड़ा मिला. महिला की सेंडल इधर उधर पड़ी हुई थी. मौके से पुलिस टीमों ने बालों का एक गुच्छा भी था कब्जे में लिया है. इससे साबित होता है कि रितिका सिंह और उसके हमलावरों के बीच आखिरी समय तक जद्दोजहद होती रही होगी. मौके पर एक गमला भी गिरा पड़ा मिला. इन सभी चीजों को फोरेंसिक एक्सपर्ट ने कब्जे में लिया है.


पहले से शादीशुदा है लिव-इन पार्टनर
पुलिस के अनुसार रितिका का मायका विजय नगर, गाजियाबाद में है. सन् 2014 में उसने टूंडला के नगला झम्मन निवासी आकाश गौतम से प्रेम विवाह किया था. वे दोनों पहले फिरोजाबाद में रहते थे. आकाश कंसल्टेंसी कोचिंग चलाता था. कुछ समय बाद आकाश आगरा जाकर रहने लगा. सन् 2017 में रितिका की दोस्ती फेसबुक के माध्यम से बड़ा बाजार, टूंडला निवासी विपुल अग्रवाल से हो गई. विपुल पहले से शादीशुदा है. इस रिश्ते की भनक आकाश को हो गई. लिहाजा इसी मुद्दे पर पति पत्नी का रोज झगड़ा होने लगा था. विपुल ने पुलिस को बताया कि 2019 से रितिका और वो साथ लिव इन में रहने लगे थे.

गले में फंसी मिली रस्सी
ढाई महीने पहले ही रितिका और विपुल ओमश्री अपार्टमेंट वाले फ्लैट में चौथी मंजिल पर किराये पर रहने पहुंचे थे. शुक्रवार सुबह 10 से 11 बजे के बीच आकाश दो महिलाओं और दो युवकों के साथ मौके पर पहुंचा. उसने फ्लैट के अंदर पहुंचते ही रितिका के साथ मारपीट शुरू कर दी. पुलिस की माने तो हमलावरों ने ही रितिका सिंह के हाथ-पैर बांधकर उसे चौथी मंजिल से नीचे फेंक दिया. जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई. रितिका के गले में भी रस्सी फंसी हुई मिली है. सीओ सदर अर्चना सिंह ने मीडिया को बताया कि, युवती की हत्या का मामला है. मृतका के परिजनों को सूचना दे दी गई है. रितिका के परिवार वाले भी आगरा पहुंच चुके हैं. उन्हीं के बयान के आधार पर आगे एक्शन लिया जाएगा.